बाल्टी में मोती ऊगा कमा रहे है लाखो, करते है विदेशो में निर्यात

Must Try

केरल के रहने वाले 65 वर्षीय केजे माथचन कई किसानों और बेरोजगारों के लिए प्रेरणाश्रोत है। उन्होंने अपने हैं घरो में बाल्टियों में मोती उगाने का काम शुरू किया और आज 4 लाख रुपये तक कमा रहे है। आज उनके मोती देश में ही नही बल्कि ऑस्ट्रेलिया, स्विट्जरलैंड, अरब और अमेरिका जैसे देशों में भी धूम मचा रखे है। वो हमेसा से ही मछली पालन में रुचि रखते थे। कुछ समय पहले उनका ध्यान मोती उगाने के तरफ गया और फिर क्या उन्होंने इसके बारे में पता करना शुरू किया। इसका डिप्लोमा कोर्स किया और कुछ दिनों के लिए अपनी नौकरी भी छोड़ दी ताकि सही से ध्यान दे सके। उन्होंने 1999 में अपने तालाब में मोती उगाना शुरू किया। इस दौरान लोगो ने उनका बहुत मजाक बनाया लेकिन वो अपने पथ से बिल्कुल भी न डगे।

Perals farming

शुरू शुरू में उन्हें थोड़ा परेसानी भी हुआ, मुनाफा भी कम हुआ लेकिन जैसे कैसे वो इसके बारीकियों को समझते गये उन्हे फ़ायदा होते गया। शूरुवती मेला में उन्हे इस से लगभग 4 लाख 50 हज़ार तक का फ़ायदा हुआ। वो बताते है के एक अच्छे मोती में 540 परत कैल्शियम कार्बोनेट की परत होती है। एक शिप में जब कैल्शियम कार्बोनेट इक्कट्ठा होने लगता है तब जाकर वो मोती का शक्ल लेता है।

Perals farming

आज वो अन्य किसानों के लिए बाकायदा ऑनलाइन कोर्स चलाते है जहाँ वो इसकी बारीकियों को बताते है एयर उनकी मदद कर रहे है। इनके कोर्स का सहारा लेकर कई लोगो ने मोती उगाने का काम शुरू किया है और वो आज अच्छा खासा मुनाफा कमा रहे है। यही नही वो अब नारियल, आम और वनीला खेती भी कर रहे है। वो कहते है अगर आप अच्छा मोती उगाते है तो आप उसे 1800 प्रति ग्राम के दर से बेच सकते है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest Recipes

- Advertisement -spot_img

More Recipes Like This

- Advertisement -spot_img