बिहार: 10वी के छात्र ने स्ट्राबेरी की खेती कर बदल दी अपने गांव की सूरत

Must Try

आज के समय में जब बहुत से लोग खेती छोड़ सरकारी और प्राइवेट नौकरियों के तरफ जा रहे तब कुछ ऐसे भी लोग है जो अपने नए नए प्रयोग कर खेती कर लाखो कमा रहे है। आज हम बात कर रहे है 10वी कक्षा में पढ़ने वाले एकलव्य कौशिक की।

कौशिक बिहार के बेगूसराय के रहने वाले है। 10वी कक्षा में पढ़ते है, बहुत ही मेधावी छात्र है। लॉकडाउन में इन्हें खेती का जुनून चढ़ा, स्ट्राबेरी की खेती का। उन्होंने ने अपने खेत में 1000 स्ट्रॉबेरी के पौधे लगाए। ये देख कर उनके गांव वाले उनका मजाक उड़ाने लगे यहाँ तक के उन्हें पागल तक बुलाया गया लेकिन जब फसल हुई तो सबकी बोलती बन्द हो गई।

कौशिक ने मीडिया से बात करते हुए बताया के उनका ये जर्नी लॉकडाउन में शुरू हुआ। शुरू शुरू में उन्हें खेती का कोई भी एक्सपेरिएंस नही था। उन्होंने यूट्यूब से इसका जानकारी इक्कट्ठा किया और उनलोगों से बात किया जो लोग इस खेती ने वर्षो से है और तजुर्बा है। इसकी बारीकियों को सीखा और समझा।

उनके इस सफर में उनका साथ दिए उनके फूफा शैलेंद्र प्रियदर्शी जो जूलॉजी के प्रोफेसर है। उन्हीने इनके खेत की मिट्टी को देखा है आश्वस्त किया के कौशिक के खेत की मिट्टी में स्ट्रॉबेरी को उगाया जा सकता है।

इसके बाद कौशिक ने अपने खेती की जुताई की और उसे तैयार किया। उन्होंने ने ऑस्ट्रेलियन मूल के 1000 पौधे हिमाचल से मंगवाए और अपने खेतो में लगाया। चुकी खेत ने नामी बनी रहे इसके लिए उन्होंने समय समय पे इसमे सिंचाई की। उनकी ये मेहनत अब रंग लाने लगी है और अब पौधों में फल लगने लगे है।

आपको बताते चले के स्ट्राबेरी के पौधे अक्सर ठंडे देशो में किया जाता है लेकिन कुछ वेरायटीज ऐसे है जिन्हें अच्छे देखभाल और सही तरीक़े से भारत जैसे कम गर्म इलाको में भी लगाया जा सकता है।

कौशिक को उम्मीद है के इन 1000 पौधों से वो कम से कम 60,000 रुपये का मुनाफा कमा सकते है। लोकल मार्केट में फिलहाल स्ट्रॉबेरी 50 रुपये से 80 रुपये किलो में बिक रहे है। उनका कहना है के वो आगे भी स्ट्रॉबेरी का खेती जारी रखेंगे और इसे और आगे बढ़ाएंगे।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest Recipes

- Advertisement -spot_img

More Recipes Like This

- Advertisement -spot_img