Home / स्वाद / करवाचौथ के लिए पैरों में लगने वाली आलता की लेटेस्ट डिजाइन्स

करवाचौथ के लिए पैरों में लगने वाली आलता की लेटेस्ट डिजाइन्स

हिंदुस्तान तो मानो त्योहारों का देश है. यहाँ आपको हर महीने कोई न कोई त्योहार देखने को मिल ही जाएगा. त्योहारों का मौसम तो चलता ही रहता है जिसमें आने वाल 4 नवंबर को करवाचौथ का त्यौहार मनाया जाएगा. हिन्दू धर्म में ये एक खास त्यौहार माना जाता है और इसको स्त्रीयों का त्यौहार भी कहा जाता है. इसमें महिलायें अपने पति के लिए व्रत रखने के साथ साथ सोलह श्रृंगार करती है. अगर बात करें सोलह श्रृंगार की बात करें तो महिलाएं उपर सर से लेकर नीचे पैरों तक श्रृंगार करती है.

अगर बात करें पैरों के श्रृंगार की तो उसमें महिलायें बहुत कुछ करती है जैसे पैरों मे बिछियां, पायल और आलता भी लगाई जाती है. अगर बात करें आलता की तो ये बहुत पहले के समय लगाई जाती थी लेकिन जैसे-जैसे लोग नए जमाने की तरफ अपना रुख कर रहे है वैसे-वैसे आलता की डिजाइन में भी बदलाव आते जा रहें हैं.

मेहंदी की तरह ही आलता में भी नए-नए तरह के डिजाइन आते जा रहें है. बॉलीवुड ने भी इसको खूब बड़ावा दिया है. बॉलीवुड में अक्सर ऐक्ट्रिसेज के मेकअप में इसको शामिल किया जाता है. बॉलीवुड में भी इसके नए-नए डिजाइन देखने को मिलते है. अब हमें इसके कई तरह के अलग-अलग डिजाइन देखने को मिल रहे हैं. तो चलिए आपको इसके कुछ डिजाइन के बारे मे बताते हैं.

आउट लाइन डिजाइन

आलता की ये डिजाइन काफी फेमस डिजाइन है और ये डिजाइन बनाने में भी काफी आसान है. इसको बनाने के लिए आप अपने हाथ की ऊँगली या किसी ब्रश का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसको बनाने के लिए आप अपने पैरों के चारों तरफ अपनी ऊँगली से आउट लाइन बना लीजिये ये काफी आसान है. और इसके अलावा इसमें कुछ फैशन डिजाइन भी आप बना सकती हैं, जैसे अरेबिक डिजाइन और मोर डिजाइन. ये डिजाइन आपको बनाने के लिए थोड़ी प्रेक्टिस की जरूरत पड़ेगी. तो अब बात करते हैं अगली डिजाइन की.

चाँद पट्टी डिजाइन

अगर बात करें इस डिजाइन की तो ये डिजाइन काफी ट्रेंड में है और महिलायें इसको बनाना ज्यादा पसंद करती है. क्योंकि ये आसानी से घर पर ही बन जाती है. इस डिजाइन को बनाने के लिए पहले पैरों की ऊँगली में आलता को लगा लें और उसके ऊपर पैरों पर चाँद बना लें और आपकी डिजाइन तैयार है.

आलता विद स्पार्कल

आलता को स्पार्कल के साथ लगाना इसको आप इनवेंशन के तौर पर देख सकते हैं. आप इसमें स्पार्कल से आउट लाइन बना के उसके ऊपर आलता लगा दें. ये देखने मे बेहद शानदार लगता है.

मेहंदी के साथ आलता

आप आलता को मेहंदी के साथ भी लगा सकते हैं. इसके लिए पहले आप मेहंदी लगा लें. उसे लाल कर लें और ऐसी डिजाइन बनाये जिसमें आलता भी अच्छे से लग जाए इसका कॉम्बीनेशन बहुत अट्रेक्टिव दिखाई देता है.

आलता भगवान कृष्ण के समय से चली आ रही है ऐसा बताया जाता है कि भगवान कृष्ण अपनी प्रेमिका राधिका के पैरों मे आलता या महावार ही लगवाया करते थे. और आलता को हिन्दू धर्म में सोलह श्रृंगार का हिस्सा कहा जाता है.

About Masala Amma

Leave a Reply

Your email address will not be published.